Just another WordPress.com weblog

विद्या प्राप्ति प्रयोग, परिक्षा में सफलता के उपाय, परिक्षा में सफलता के टोटके, परिक्षा में सफलता के लिये यंत्र-मंत्र-तंत्र से उपाय, परिक्षा में उत्तकिर्ण होने के सरल उपाय, विद्या प्राप्ति के विलक्षण उपाय(टोटके), વિદ્યા પ્રાપ્તિ કે વિલક્ષણ ઉપાય(ટોટકે), ವಿದ್ಯಾ ಪ್ರಾಪ್ತಿ ಕೇ ವಿಲಕ್ಷಣ ಉಪಾಯ(ಟೋಟಕೇ), வித்யா ப்ராப்தி கே விலக்ஷண உபாய(டோடகே), విద్యా ప్రాప్తి కే విలక్షణ ఉపాయ(టోటకే), വിദ്യാ പ്രാപ്തി കേ വിലക്ഷണ ഉപായ(ടോടകേ), ਵਿਦ੍ਯਾ ਪ੍ਰਾਪ੍ਤਿ ਕੇ ਵਿਲਕ੍ਸ਼ਣ ਉਪਾਯ(ਟੋਟਕੇ), ৱিদ্যা প্রাপ্তি কে ৱিলক্শণ উপায(টোটকে), ବିଦ୍ଯା ପ୍ରାପ୍ତି ବିଲକ୍ଷଣ ଉପାଯ (ଟୋଟକେ), vidyA prApti ke vilakSaN upAy(ToTake), Singular Remedy of knowledge achievement (Totkae), Remedy For Excellent Education, Remedy For Excellent Study, Remedy For Excellent knowlage, Singular Astrology Remedy of knowledge achievement (Totkae), Astrology Remedy For Excellent Education, Astrology Remedy For Excellent Study, Astrology Remedy For Excellent knowlage, Lal Kitab Astrology Remedy for Excellent Education, Red Astrology Remedy for Excellent Education, Yantra, Mantra Tantra Remedy for Excellent Education,
विद्या प्राप्ति के विलक्षण उपाय(टोटके)
• पूर्व की तरफ सिर करके सोने से विद्या की प्राप्ति होती है।
• विद्वानो के मत से विद्या प्राप्ति हेतु ४ मुखी एवं ६ मुखी रूद्राक्ष लाल धागे मे धारण करने से व्यक्ति की बुद्धि तीव्र ओर कुशाग्र एवं विद्या, ज्ञान, उत्तम वाणी की प्राप्त होकर जीवन मे रचनात्मकता आति है
• पढाई मेज पर स्फटिक का श्री यंत्र स्थापीत करने से स्मरण शक्ति तीव्रे होती हैं एवं खराब विचार दूर होकर उत्तम प्रकार की चिंताधारा उत्पन्न होती हैं, एवं मां सरस्वती और लक्ष्मी का आशिर्वाद सदैव बना रेहता हैं।
• अपने पूजा स्थान पर सरस्वती यंत्र स्थापीत कर प्रति दिन धूप- दीप करने से मां सरस्वती का आशिर्वाद एवं कृपा सदैव बनी रेहती हैं।
• पढाई करते समय पूर्व या उत्तर दिशा की तरफ मुख कर कर पढाई करें।
• पढाई करते समय स्फेद या हलके रंग के कपडो का चुनाव करे ताकी ……….
• पढाई की किताब में मौली का टुकडा रखने से ज्ञान एवं विद्या ……………
• किताब में मोर के पंख रखने से लाभ होता हैं।
• ज्ञान मुद्रा का प्रति-दिन मात्र ५ मिनिट प्रयोग करने से स्मरण शक्ति …………….
• पढाई करने वाली मेज(टेबल) पर शीशा नहीं रखना चहीये। शीशा रखने से मानसिक ……………
• पढाई के समय अपने पीछे खाली जगा न रखे अर्थात ठोस दीवार की और पीठ कर ……………
• अपनी बायीं (राईट हेंड) और पानी से भरा ग्लास रखें …………..
• मेज(टेबल) पर यथा संभव कम सामग्री रखे उस्से एकाग्रता …………..
• मेज(टेबल) को दीवार से थोडा दूर रखे सटाकर ………….
• रात को सोने से पूर्व चांदी के ग्लास मे पानी भरकर ……….
• भोजन करते समय चांदी के बरतनो का उपयोग करने ………
• बच्चो को सोमवार का व्रत कर शिव मंदिर में ………….
• बुध कि होरा विद्या-बुद्धि अर्थात पढाई के ……..
• विद्वानो के मत से काँसे के बर्तन में ………..
• अंजीर को बादाम एवं पिस्ता के …………
• प्रतिदिन सूर्यनमस्कार करने और सूर्य को…………..
• लोहे के बर्तन में भोजन करने से बुद्धि का ………..
• अष्टमी को नारियल ………….
• स्मरण शक्ति को प्रबल करने के लिये ……….
स्मरण शक्ति को प्रबल करने के लिये ………………………..>>

अन्य अचूक प्रभावशाली उपाय

• बुधवार के दिन मंत्र सिद्ध पूर्ण प्राण प्रतिष्ठित एवं पूर्ण चैतन्य युक्त सरस्वती कवच को धारण करें।
• मंत्र सिद्ध पूर्ण प्राण प्रतिष्ठित एवं पूर्ण चैतन्य युक्त चार और छः मुखी रुद्राक्ष धारण करने से भी स्मरण शक्ति बढती हैं।
• शुद्ध पन्ने (Emrald) रत्न को अभिमंत्रीत कर धारण करने से लाभ होता हैं।
• अपनी पूजन स्थान में या पढाई करने वाले स्थान या रुम में मंत्र सिद्ध पूर्ण प्राण प्रतिष्ठित एवं पूर्ण चैतन्य युक्त सरस्वती यंत्र स्थापीत करने से लाभ प्राप्त होता हैं।
• हरे मरगच या हकीक की माला………….
• परीक्षा में उत्तीर्ण होने हेतु लाल रंग की कलम (पैन) लें ………..
• मन कि एकाग्रता हेतु प्रतिदिन प्राणायाम करें। विद्यारंभ करने से पूर भी प्राणायाम करना लाभ प्रद होता हैं। प्राणायाम से शरीर में शक्ति का संचार होता हैं और स्फूर्ति उत्पन्न होती हैं।
सोने से पूर्व सरस्वती मंत्र का जप करे एवं सोते समय भी सरस्वती मंत्र का जप करते रहें।
परिक्षा के लिये प्रस्थान करेने से पूर्व गणेश जी के निम्न मंत्र का ध्यानपूर्वक जप करके घर से बाहर निकले करें।
ॐ वक्रतुंड महाकाय सूर्य कोटि समप्रभः।
निर्विघ्नम्कुरु मे देव सर्व कार्येषु सर्वदा॥

प्रश्न पत्र पर पर कुछ भी लिखने से पूर्व उपर छोटे अक्षरो में ………………….

उपरोक्त प्रयोग के करने से अवश्य लाभ प्राप्त होता हैं।
……………..>>
>> Read Full Article Please Read GURUTVA JYOTISH February-2011

संपूर्ण लेख पढने के लिये कृप्या गुरुत्व ज्योतिष ई-पत्रिका फरवरी-2011 का अंक पढें।
इस लेख को प्रतिलिपि संरक्षण (Copy Protection) के कारणो से यहां संक्षिप्त में प्रकाशित किया गया हैं।

>> गुरुत्व ज्योतिष पत्रिका (फरवरी-2011)
FEB-2011

>> http://gk.yolasite.com/resources/GURUTVA%20JYOTISH%20FEB-201.pdf  

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

टैग का बादल

%d bloggers like this: