Just another WordPress.com weblog

धन प्राप्ति हेतु अष्टलक्ष्मी स्तोत्र, धनप्राप्ति, धनलाभ, लक्ष्मी प्राप्ती, अष्टलक्ष्मी स्तोत्र के पाठ से धन संबंधित परेशानीयां दूर होती हैं।अष्टलक्ष्मी यंत्र, अष्ट लक्ष्मि यन्त्र, अष्टलक्ष्मी कवच, कबच, Asht Lakshmee, Aasht lakshmi yantra, asht lakshmmi yantra, Dhan prapti, Dhan labha, lakshmi prapti, Asht lakshmi, Arthik Labh, Remedy For Economy Benefit, Remedy For Fainancial Improve, Remady for wealth, Remedy for Sthir lakshmi, money, Money received, Dhnalabh, Lakshmi attains, Ashtlekshami, economic benefits, measures, Totkae, Economically benefits, Money receipt, Dhnalabh, Lakshmi attains, Ashtlekshami, Financially profit Solution, Totkae, धन प्राप्ति, धनलाभ, लक्ष्मी प्राप्ती, अष्टलक्ष्मी, आर्थिक लाभ, उपाय, टोटके, ધન પ્રાપ્તિ, ધનલાભ, લક્ષ્મી પ્રાપ્તી, અષ્ટલક્ષ્મી, આર્થિક લાભ, ಧನ ಪ್ರಾಪ್ತಿ, ಧನಲಾಭ, ಲಕ್ಷ್ಮೀ ಪ್ರಾಪ್ತೀ, ಅಷ್ಟಲಕ್ಷ್ಮೀ, ಆರ್ಥಿಕ ಲಾಭ, தந ப்ராப்தி, தநலாப, லக்ஷ்மீ ப்ராப்தீ, அஷ்டலக்ஷ்மீ, ஆர்திக லாப, ధన ప్రాప్తి, ధనలాభ, లక్ష్మీ ప్రాప్తీ, అష్టలక్ష్మీ, ఆర్థిక లాభ, ധന പ്രാപ്തി, ധനലാഭ, ലക്ഷ്മീ പ്രാപ്തീ, അഷ്ടലക്ഷ്മീ, ആര്ഥിക ലാഭ, ਧਨ ਪ੍ਰਾਪ੍ਤਿ, ਧਨਲਾਭ, ਲਕ੍ਸ਼੍ਮੀ ਪ੍ਰਾਪ੍ਤੀ, ਅਸ਼੍ਟਲਕ੍ਸ਼੍ਮੀ, ਆਰ੍ਥਿਕ ਲਾਭ, ধন প্রাপ্তি, ধনলাভ, লক্ষ্মী প্রাপ্তী, অষ্টলক্ষ্মী, আর্থিক লাভ, ଧନ ପ୍ରାପ୍ତି, ଧନଲାଭ, ଲକ୍ଷ୍ମୀ ପ୍ରାପ୍ତୀ, ଅଷ୍ଟଲକ୍ଷ୍ମୀ, ଆର୍ଥିକ ଲାଭ,
हिंदू देवी-देवताओं में श्री लक्ष्मीजी को धन की देवी माना जाता हैं। इस लिये जिन लोगो पर देवी लक्ष्मी की कृपा हो जाती हैं, उन्हें जीवन में कभी किसी तरह के अभावो या कमीयों का सामना नहीं करना पड़ता। व्यक्ति का जीवन सुख-समृद्धि और ऐश्वर्य से भरा होता हैं।
विद्वानो के मतानुशार शास्त्रों में लक्ष्मीजी के आठ रूपो का उल्लेख मिलता हैं।
.
अष्टलक्ष्मी यंत्र
मंत्र सिद्ध अष्ट लक्ष्मी यंत्र को घर, दुकान, ओफिस आदि में स्थापित करने से आर्थिक स्थिती में सुधार होने के साथ मां लक्ष्मी के अष्टरुपो का अशिर्वाद प्राप्त होता हैं।

मूल्य:550 से 8200
इस लिये जिन लोगो पर अष्ट लक्ष्मी की कृपा हो जाती है।
उनका जीवन सभी प्रकार के सुख-समृद्धि-ऎश्चर्य एवं संपन्नता से युक्त रहता हैं। ऎसा शास्त्रोक्त विधान हैं, इस में लेस मात्र संशय नहीं हैं।
अष्टलक्ष्मी स्तोत्र के नियमीत पाठ से लक्ष्मी की कृपा बनी रहती हैं।
जिस्से मां लक्ष्मी के अष्ट रुप
.
अष्ट लक्ष्मी कवच
मंत्र सिद्ध अष्ट लक्ष्मी कवच को धारण करने से व्यक्ति पर सदा मां महा लक्ष्मी की कृपा एवं आशीर्वाद बना रहता हैं। जिस्से मां लक्ष्मी के अष्टरुप का अशीर्वाद प्राप्त होता हैं।
मूल्य मात्र: Rs-1050

(१)-आदि लक्ष्मी,
(२)-धान्य लक्ष्मी,
(३)-धैरीय लक्ष्मी,
(४)-गज लक्ष्मी,
(५)-संतान लक्ष्मी,
(६)-विजय लक्ष्मी,
(७)-विद्या लक्ष्मी और
(८)-धन लक्ष्मी इन सभी रुपो का स्वतः अशीर्वाद प्राप्त होता हैं।

अष्टलक्ष्मी की विशेष कृपा प्राप्ति हेतु अष्ट लक्ष्मी यंत्र को संपूर्ण प्राण-प्रतिष्ठित पूर्ण चैतन्य युक्त करवा कर घर में स्थापीत करना विशेष फलदायी बताया गया है।

किसी जानकार विद्वान से शुभ मुहुर्त में अष्ट लक्ष्मी कवच बनवा कर कवच को गले धारण करने से भी विशेष लाभ प्राप्त होता हैं।

>> अष्टलक्ष्मी स्तोत्रइस लिंक पर उपलब्ध हैं।
>> http://gurutvakaryalay.blogspot.com/2010/11/blog-post_7604.html

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

टैग का बादल

%d bloggers like this: